मां मुझे माफ करना

Introduction:- मेरी मां और मुझ में अंतर है केवल सहशीलता का। मां जानती है कि घर में सब कुछ ठीक नहीं है लेकिन वह विरोध की बजाय सब कुछ सहकर बहुत से अपराधों को बढ़ावा देती है। जो कुछ व्यभिचार, उन्माद व उद्दंडता आज समाज में दिख रही है उसकी जिम्मेदारी उस मां की भी... Continue Reading →

Advertisements

प्रतिमानाटकम् से आज तक

प्रतिमानाटकम् का प्रथम अंक जिसमें भास अपनी मौलिकता का परिचय देते हुए परिहासवश सीता को वल्कल पहनते हुए दिखाते है। प्रसंग यह है कि राज्याभिषेक से पूर्व एक सखी कुछ वल्कल (गेरुआ साधु के वस्त्र) लेकर आती है। सीता को यह वस्त्र बहुत सुंदर लगते हैं। सीता उन्हें पहन लेती हैं। उसके उपरांत कुछ देर... Continue Reading →

Happy Gandhi Jayanti!!

आप सभी को गांधी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं। इस शुभ पर्व पर हमारे प्यारे बापू का जन्म हुआ था। इस पावन अवसर पर मैं अपनी कविता ‘बापू अब तुम ही बोलो’ को पुनः प्रस्तुत करना चाहूंगी :- चेहरे से मानुष हैं सब संवेदन रहित ह्रदय के करतब। छल छद्म द्वेष के शिकार। हर पग पर... Continue Reading →

Some famous Statements #4

Here are some inspiring statement from famous personalities :- “And in the end it's not the years in your life that count. It's the life un your years.” — Abraham Lincoln “Life is ours to be spent. Not to be saved” — D. H. Lawrence “The art of Life is to know how to enjoy... Continue Reading →

Some famous statements #3

Here are some inspiring statements from famous personalities:- “One lie makes many” — Latin proverb “Life consists of not in holding cards but playing those we hold that well.” — John billings “Pain makes man think.Thought makes man wise. Wusdom makes life endurable.” — John Patrick

Some famous statements #2

Here are some inspiring statements from famous personalities:- “There is no elevator to success. You have to take the stairs.” — Anonymous “All you need in life is ignorance and confidence, and then success is sure” — Mark Twin “What is once well done is done forever” — Henry David Thoreau

I am Your Mirror

Please respect women. Without them, your world will be colourless. I am your mirror Reflecting your image. If you consider me as lust Or an instrument of enjoyment You will become a demon Deprived of majesty, No blessing showers of God But if you follow my path of Compassion and affection, Listen to the resonance... Continue Reading →

1000 likes completed!!

I am so excited to tell you about the new milestone we have reached! 1000 likes! Thank you so much.I really appreciate your attention and support from the bottom of my heart. Thanks for your support!

जीवन की सीख

नम्रता दिखाते हुए चलना सद्गुण अपनाते हुए चलना दर्प के साथ तो चलते है बहुत तुम अपना सर झुकाते हुए चलना। थोड़ा शरमाते हुए चलना थोड़ा मुस्काते हुए चलना रिश्ते हर कोई बनता है तुम निभाते हुए चलना। प्रेम गीत गुनगुनाते हुए चलना परायों को अपना बनाते हुए चलना दुनिया में हैवानियत कम है क्या?... Continue Reading →

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑