धर्म कहां है

मैं पूछती हूं खुद से अक्सर

धर्म कहां है ?

पूजा , विविध व्रतों , उपवासों में

पुरोहित या धर्म गुरुओं के पास

नैष्ठिक अनुष्ठानों या कर्मकांडों में

उपासना के बिके हुए फूलों में

हमारे दिखावटी उसूलों में।

नहीं नहीं नहीं

धर्म करणीय – अकरणीय

उपयुक्त – अनुपयुक्त पर विचार

कराने वाला विवेक है ।

मानवता की अलख जगाता संदेश है


Advertisements

श्रेणी:Social inequality

9 replies

  1. धर्म का English word hai Religion… लोगो ने धर्म को ईश्वर या शैतान, स्वर्ग-नरक से जोड़ लिया जो की पूरी तरह गलत है। Religion का मतलब है जो खंड-खंड है उसको जोड़ कर एक करना.. सयुंक्त करना, पर इस दुनिया में धर्म के नाम पैर उल्टा ही हो रहा है, लोग जयादा ही विभाजित हो गए है मनुष्य सयुंक्त होने की बजाये खंड-खंड हो गया है अपने अपने धर्म बना कर।

    Liked by 1 व्यक्ति

  2. धर्म कहां है? मुझे लगता है कि धर्म धर्म मानव जीवन में सबसे बड़ी भूमिका निभाता है। लेकिन मुझे यह भी लगता है कि हमें यह समझने की जरूरत है कि कुछ प्रथाएं एक पुराने युग की परंपरा हैं और आधुनिक जैसी सहायता करने के लिए कुछ भी नहीं करती हैं।

    dharm kahaan hai? mujhe lagata hai ki dharm dharm maanav jeevan mein sabase badee bhoomika nibhaata hai. lekin mujhe yah bhee lagata hai ki hamen yah samajhane kee jaroorat hai ki kuchh prathaen ek puraane yug kee parampara hain aur aadhunik jaisee sahaayata karane ke lie kuchh bhee nahin karatee hain.

    ————
    Where is the religion? I think perfer religion plays the greatest role in human life. But I also think we need to realize that some practices are the custom of a bygone era and does nothing to assist modern like.

    Liked by 1 व्यक्ति

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s