Happy Gandhi Jayanti!!

आप सभी को गांधी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं। इस शुभ पर्व पर हमारे प्यारे बापू का जन्म हुआ था। इस पावन अवसर पर मैं अपनी कविता ‘बापू अब तुम ही बोलो’ को पुनः प्रस्तुत करना चाहूंगी :-


चेहरे से मानुष हैं सब

संवेदन रहित ह्रदय के करतब।

छल छद्म द्वेष के शिकार।

हर पग पर हो खुद का विस्तार

साजिशों की घिनौनी हरकत।

मिटा कर बड़ी लकीरें

काट कर गला किसी सरल का

बन गए सफलता के शिखर

‌‌ उजाड़ दिया भारती के कानन को।

सभ्य वसनों में , भोली शक्लों में –

पाया वही पुराना तुच्छ मरकट।

अहंकार अब विद्या भूषित

नम्रता ज्ञान से शायद चली गई।

दादुर ही अब बोल रहें

सुनती कोयल होकर मौन

ढूंढ रही वह अपना ठौर।

करील ही अब नियति हमारी

सूख गए आम्रतरुवर‌ सब।

बापू तुम ही बोलो ।

अब तो मौन तोड़ो

क्या तुम हो खुश देख दुगर्ति –

अपनी जननी की?

रो रही है मां , गांधी , सुभाष अब कहां?

रागी पुत्रों ने मुझको –

सचमुच कर दिया अबला ।।


आप सबको फिर एक बार –

Happy Gandhi Jayanti!

Advertisements

11 thoughts on “Happy Gandhi Jayanti!!

  1. मेरे तो रोंगटे खड़े हो गए है………बापू कि आत्मा जहाँ भी होगी उन तक यह कविता पहुँच गई होगी……….अद्भुत…….जादु है आपके हाथों में।
    मैं तो बस इतना हि कहुंगा…We are born as humans
    but
    Our works decide how to spread ourselves.
    MAHATMA GANDHI
    or
    NATHURAM GODSE

    Liked by 3 people

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s