Category Archives: Philosophy

जिंदगी की यही कहानी है

घर भरा है ऐशो-आराम के

साजो-सामान से

किंतु कहीं कुछ खाली है;

समझ में आता नहीं है

क्या असली क्या जाली है?

हर वक्त सालती हमको ख्वाहिशें

आज यह कल वह चाहिए

पूरी जिंदगी की यही कहानी है।


Advertisements